You are here
Home > देश > ट्रेनों में आज से टिकट बुकिंग शुरू, ऐसा रहेगा रूट

ट्रेनों में आज से टिकट बुकिंग शुरू, ऐसा रहेगा रूट

Trains

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे लगभग दो महीने बाद मंगलवार से यात्री ट्रेनों की शुरुआत करने वाला है। कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए ट्रेनों का संचालन रोक दिया गया था। सोमवार शाम चार बजे से इंडियन रेलवे केटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन (आईआरसीटीसी) के जरिए 15 ट्रेनों के लिए बुकिंग शुरू हो जाएगी। अधिकारियों का कहना है कि यात्री ट्रेन शुरू होने से वे लोग बुकिंग करा पाएंगे जो लॉकडाउन की वजह से विभिन्न राज्यों में फंसे हुए हैं।

यहां 10 बिंदु में जानिए सबकुछ

  • ये 15 ट्रेनें नई दिल्ली से डिब्रूगढ़, अगरतला, हावड़ा, पटना, बिलासपुर, रांची, भुवनेश्वर, सिकंदराबाद, बंगलूरू, चेन्नई, तिरुवनंतपुरम, मडगांव, मुंबई सेंट्रल, अहमदाबाद और जम्मू तवी तक जाएंगी। इनमें वापसी यात्रा भी शामिल होगी।
  • इन ट्रेनों में केवल एसी कोच होंगे और इसका किराया राजधानी ट्रेनों के समान होगा। ट्रेन में फर्स्ट एसी, सेकेंड एसी और थर्ड एसी क्लास होगी और यह लगभग पूरी क्षमता के साथ चलेंगी। प्रमुख रूट्स पर ट्रेन को रोका जाएगा।
  • यात्रियों को ऑनलाइन टिकट बुक कराने की अनुमति होगी और रेलवे स्टेशनों पर टिकट बुकिंग काउंटर बंद रहेंगे। प्लेटफार्म टिकट सहित कोई भी काउंटर टिकट जारी नहीं किया जाएगा।
  • केवल वैध कंफर्म टिकट वाले यात्रियों को रेलवे स्टेशनों में प्रवेश करने की अनुमति होगी। यात्रियों को सुरक्षा मंजूरी के लिए समय पर स्टेशन पहुंचने के लिए कहा जा सकता है।
  • यात्रियों के लिए इन ट्रेनों में फेस मास्क पहनना अनिवार्य होगा। इसमें केवल वातानुकूलित (एसी) कोच होंगे और प्रीमियम राजधानी ट्रेनों के बराबर किराया वसूला जाएगा।
  • स्टेशन पर लोगों की स्क्रीनिंग की जाएगी और केवल उन लोगों को यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी जिनमें कोविड-19 के लक्षण नहीं दिखाई देंगे।
  • इन ट्रेनों में यात्रा करने वाले यात्रियों को कंबल और चादरें नहीं दी जा सकती हैं। तापमान को थोड़ा अधिक रखा जाएगा और केवल ताजी हवा की अधिकतम आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी। ट्रेन में कोई भी पैंट्री सेवा उपलब्ध नहीं होगी।
  • फिलहाल इस बात को लेकर कोई स्पष्टता नहीं है कि वरिष्ठ नागरिकों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति दी जाएगी या नहीं।
  • एक मई से प्रवासी मजदूरों के लिए शुरू हुई श्रमिक स्पेशल ट्रेनों का संचालन जारी रहेगा। यात्री ट्रेनों के विपरीत, श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में केवल स्लीपर कोच शामिल हैं और इनमें कोई ठहराव नहीं है।
  • कोविड-19 केयर सेंटर के लिए आरक्षित 20,000 कोचों के बाद, कोचों की उपलब्धता के आधार पर रेलवे अन्य विशेष सेवाओं को फिर से शुरू करेगा। मंत्रालय के अनुसार रेलवे प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजाना 300 ट्रेनें संचालित करने में सक्षम है।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top