You are here
Home > राजस्थान > मूलभूत सुविधाओं को तरसता सेंकला गांव

मूलभूत सुविधाओं को तरसता सेंकला गांव

झालावाड़/उन्हेल । कहते हैं भारत गांवों में बसता है और उन्ही गांवों की हालत वर्तमान समय में खस्ता हैं। डग विधानसभा का सेकला गांव आज भी अपनी मूलभूत सुविधाओं से दूर है। गांव में आज भी न तो सड़के है और न नालिया यहाँ तक कि पेयजल का भी संकट छाया हुआ है। गांव के बीच बने शीतला माता मंदिर का रास्ता पूरी तरह से खराब हो रहा है यहां बड़ी-बड़ी झाड़ियां, नालियां, कांटे व कीचड़ भरा पड़ा है। शीतला माता मंदिर पर त्योहारों व अन्य दिनों में गांव के सैकड़ों महिला-पुरुष पूजा करने दिन व रात आते हैं जिनको भारी मुसीबतों का सामना करना पड़ता है ।

गांव की महिलाएं विलम बाई, रुकमण बाई, प्रकाश बाई, असन बाई सहित कई महिलाओं ने बताया की हम शीतला माता मंदिर पर जल चढ़ाने आते हैं, शादियों में माताजी पूजन के लिए मेहंदी चढ़ाने आते हैं तो हमको बहुत परेशानी होती है । यहां पर रोड नहीं है, नालियां नहीं है जिसकी वजह से बड़ी दिक्कत आ रही है ।

गौरतलब है कि सेंकला वही गांव है जहां लोकसभा-विधानसभा चुनाववों में 97 प्रतिशत तक वोटिंग होती है। जिले में दूसरे व राज्य में टॉप 30 में नाम आता है। यहां आकर भाजपा व कांग्रेस के बड़े-बड़े दिग्गज नेता जनप्रतिनिधि भी गांव के विकास के लिए बड़ी-बड़ी बातें करते हैं। राजनीतिक पार्टियों के कार्यालयों से फोन आते है कि आपको क्या-क्या विकास कार्य करवाने परंतु यह सब बातें आज कोरी कपोल साबित हो रही है। ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत पर भी नाराजगी जाहिर की।

वार्ड पंच विक्रम सिंह ने बताया की मैंने कई बार लिखित में इस मामले में ग्राम पंचायत को तथा उच्च अधिकारियों को भी अवगत कराया परंतु अभी तक शीतला माता जी की गली में कोई कार्य नहीं हुआ है वास्तव में यहां बहुत परेशानी है।

– सुरेश सिंह पंवार

Sharing is caring!

Similar Articles

One thought on “मूलभूत सुविधाओं को तरसता सेंकला गांव

Leave a Reply

Top