You are here
Home > राज्य और शहर > Mandsaur: बाप-बेटे और मॉं ने मिलकर की थी किशोर की हत्या, 12 घंटे में अंधेकत्ल का पर्दाफाश

Mandsaur: बाप-बेटे और मॉं ने मिलकर की थी किशोर की हत्या, 12 घंटे में अंधेकत्ल का पर्दाफाश

#Murder
  • प्रेम प्रसंग के चलते हुई थी किशोर की हत्या
  • हत्या में शामिल बाप-बेटे गिरफ्तार, मॉं फरार

मंदसौर। आज प्रातः रामघाट वॉटर वर्क्स क्षेत्र में एक किशोर की लाश मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई थी। सूचना मिलते ही पुलिस तुरंत मौके पर पहुंची, प्रथम दृष्टया ही मामला हत्या का प्रतीत हुआ। मंदसौर एसपी सिद्धार्थ चौधरी के कुशल मार्गदर्शन में मंदसौर शहर कोतवाली पुलिस ने महज 12 घंटे में हत्या करने वालो बाप-बेटे को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की वहीं मॉं अभी फरार है।

घटना का संक्षिप्त विवरण

आज 29 मई को प्रातः थाना कोतवाली क्षेत्रान्तर्गत रामघाट वाटर वर्क्स पर शिवना नदी के उस पार एक शव पड़ा होने की सूचना मिलने पर मौके पर तत्काल पुलिस अधिकारीगण पहुंचे व हत्या का मामला परिलक्षित होने से घटना की जॉच प्रारंभ की गई। अनुसंधान में तकनीकी व वैज्ञानिक साक्ष्यों को भी अध्ययन मे लिया गया। अवलेकन से प्रथमदृष्टया मृत किशोर की हत्या कर लाश को साक्ष्य छुपाने के आशय से उक्त स्थान पर फेंका गया। मौके की समस्त प्रारम्भिक कार्यवाही विधिवत् सम्पादित कर थाना शहर कोतवाली मन्दसौर पर अप.क्रं. 243/20 धारा :-302,201,34 भादवि. दर्ज कर अनुसंधान में लिया गयाव घटना की पतारसी कर घटना का कारण ज्ञात किया गया।

आरोपी मनीष मेढा पिता दीता मेढा को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर उसने बताया कि उसकी बहन से मृतक के प्रेम प्रसंग थे। उक्त संबंध में पूर्व में भी आरेपी व मृतक के बीच विवाद हुआ था किन्तु उसके बाद भी आरोपी की बहन व मृतक के प्रेम संबंध निरन्तर जारी थे। इसी कारण से आरोपी मनीष मेढा मृतक से रंजीश रखते हुए आरोपी ने योजनानुरूप अपने स्वयं के ही घर में मृतक की गला दबाकर व चोट पहुंचाकर हत्या कर मृतक का मोबाईल व स्वयं के खून आलुदा कपड़े छिपा कर रख दिये तथा मृतक की लाश को नदी के किनारे फेंक दिया जिसमें आरेपी के पिता दीता मेढ़ा व उसकी माता ने भी सहयोग किया गया था। घटना में शामिल आरोपिया फरार है जिसकी पुलिस द्वारा तलाश की जा रही
हैं।

आरोपी का नाम

  1. मनीष पिता दीता मेढ़ा उम्र 22 वर्ष निवासी रामघाट झुग्गी झोपड़ी मन्दसौर
  2. दीता पिता पुनिया मेढ़ा उम्र 45 वर्ष निवासी रामघाट झुग्गी झोपड़ी मन्दसौर

जप्तशुदा मश्रुका

आरोपी की निशानदेही से मृतक का मोबाईल एवं खून आलुदा कपड़े जप्त किये गए।

सराहनीय योगदान

निरीक्षक एस.के. यादव, उनि मोतीराम चोधरी, निर्भया वाहिनी की महिला आर. 907 पिंकी पांचाल, म.आर. 845 अल्का की महत्वपूर्ण भूमिका रही है।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top