You are here
Home > राज्य और शहर > पत्रकार का अपहरण व जानलेवा हमलाः आरोपियों पर सख्त कार्रवाई को लेकर पत्रकारों ने राष्ट्रपति, पीएम, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

पत्रकार का अपहरण व जानलेवा हमलाः आरोपियों पर सख्त कार्रवाई को लेकर पत्रकारों ने राष्ट्रपति, पीएम, सीएम के नाम सौंपा ज्ञापन

सहकारिता मंत्री के गृह क्षेत्र में सुरक्षित नहीं है पत्रकार

प्रतापगढ़/छोटीसादड़ी । शुक्रवार रात्रि करीब 9 बजे के लगभग दुकान पर बैठ खबरें प्रेषित करते पत्रकार पारस जणवा के ऊपर प्राणघातक हमला करने एवं अपहरण के मामले में आरोपियों के खिलाफ सख्त एवं कड़ी कार्रवाई करने के लिए उपखंड क्षेत्र के पत्रकारों ने राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम एसडीएम गौरी शंकर शर्मा को ज्ञापन सौंपा ।

ज्ञापन में बताया कि विगत कुछ वर्षों से उपखंड क्षेत्र में लगातार गुंडागर्दी, अपरहण जैसे असामाजिक तत्व पनप रहे हैं जो आए दिन ऐसी घटनाओं को अंजाम देते हैं जिससे स्थानीय नागरिकों में भय व्याप्त हो गया है । 10 जुलाई की रात्रि 9 बजे ऑफिस पर बैठकर खबरे प्रेषित करने का कार्य कर रहे पत्रकार पारस जणवा पर दस से पंद्रह लोग हथियारों से लेश होकर जान से मारने की नीयत से मारपीट करते हुए अपहरण कर ले गये । क्षेत्र के पत्रकारों को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने पुलिस थाने में जाकर पुलिस के ऊपर कार्रवाई के लिए दबाव बनाया तब पुलिस आरोपियों की तलाश में निकली जहाँ से संदिग्ध लगने पर दो व्यक्तियों को गिरफ्तार कर पुलिस थाने लाई। इस बीच आरोपियों ने मामले को बढ़ता देख पारस जणवा को नीमच रोड स्थित ब्रिज के पास घायल अवस्था में छोड़कर भाग गए।

पुलिस को जानकारी मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और घायल पारस जणवा को सामुदायिक चिकित्सालय लाकर भर्ती करवाया जहां चिकित्सक द्वारा प्रथामिक उपचार के बाद अग्रिम उपचार के लिए रेफर कर दिया गया।

लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर हो रहें हमले गाँधीवादी देश व सरकार के लिए शर्मनाक बताते हुये घटना से क्षुब्ध होकर पत्रकारों ने शनिवार को राष्ट्रपति प्रधानमंत्री एवं मुख्यमंत्री के नाम आरोपियों के विरुद्ध कठोर कानुनी कार्यवाही करते हुए क्षेत्र में पनप रही गुंडा गिर्दी पर अंकुश सहित अवैध करोबार पर अंकुश लगाने एवं आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर उन्हें कठोर से कठोर सजा दिला पत्रकारिता की स्वतंत्रता को कायम रखते हुए पत्रकार को न्याय दिलवाने की मांग की है ।

अगर शासन प्रशासन द्वारा इस मामले को लेकर लापरवाही बढ़ती गई तो सभी पत्रकार उग्र आंदोलन करेंगे जिसकी समस्त जिम्मेदारी शासन-प्रशासन की रहेगी। इस दौरान रोहित शर्मा, कैलाशचंद शर्मा, शैलेंद्र सिंह यादव, अनिल शर्मा, ललित औदीच्य, ललित जोशी, चट्टान सिंह साहू, राजेंद्र चतुर्वेदी, रमेशचंद्र टांक, प्रह्लाद जणवा, समकित वया, रोहित रेगर आदि मौजूद रहे।

पत्रकार पर हमले के विरोध में जणवा समाज ने सौंपा ज्ञापन, कड़ी कार्रवाई की मांग

शुक्रवार रात्रि को पत्रकार पारस जणवा पर हमले के विरोध में जणवा समाज के सैकड़ों लोगों ने राष्ट्रपति, मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपकर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की है। वही, पत्रकार व अन्य मीडियाकर्मियों को सुरक्षा प्रदान करने की मांग की है। इस दौरान सैकड़ो समाजजन मौजूद रहे।

अवैध खननकर्ता ने किया हमला

क्षेत्र में इन दिनों धड़ल्ले से सरकारी भूमि एवं चरनोट भूमि से खनन माफिया दिन रात अवैध मिट्टी दोहन कर रहे हैं । इस खबर को पत्रकार प्रकाशित करने जा रहा था इसकी भनक अवैध खनन कर्ताओं को लग गई इसलिए खबर लगने से पूर्व ही खनन माफियाओं ने पत्रकार के ऊपर जानलेवा हमला करते हुए उसका अपहरण कर लिया। समय रहते पुलिस मौके पर पहुंच गई अन्यथा पत्रकार के साथ कोई भी बड़ी घटना घटित हो सकती थी ।

मंत्री के गृह क्षेत्र में आए दिन हो रहे हमले

सहकारिता एवं इंदिरा नहर परियोजना मंत्री उदयलाल आंजना के गृह क्षेत्र में विगत एक डेढ़ वर्षो से छुटपुट घटनाओं को छोड़ते हुए आए दिन हमले किए जा रहे हैं। लॉकडाउन के बीच तीन बार पुलिसकर्मियों के ऊपर भी जानलेवा हमले किए जा चुके हैं। एक वर्ष पूर्व मंत्री के गांव केसुन्दा में दिनदहाड़े एक मकान के ऊपर जेसीबी चला कर उस मकान को तहस नहस कर दिया गया। इसके साथ आए दिन लोगों के ऊपर मारपीट व जानलेवा हमले हो रहे हैं जिससे उपखंड क्षेत्र के लोगों में भय व्याप्त हो गया है ।

पत्रकार पर हुए हमले को लेकर पुलिस ने 5 टीमों का गठन कर जगह-जगह दबिश दी जा रही है। और पुलिस ने दो आरोपियों जसवंत चौधरी एवं ईश्वर जाट को रात्रि को ही गिरफ्तार कर लिया था। अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी।
रविंद्र प्रताप सिंह, सीआई पुलिस थाना छोटीसादड़ी

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top