You are here
Home > देश > मसखरा शहजादे खुद से कर रहे मज़ाक?

मसखरा शहजादे खुद से कर रहे मज़ाक?

राहुल के आरोपों पर जेटली का पलटवार

नई दिल्ली । वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राफेल लड़ाकू विमान सौदे, गुड्स एंड सर्विस टैक्स (GST) और नॉन परफॉर्मिंग एसेट (NPAs) को लेकर फैलाये जा रहे झूठ को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की कड़ी आलोचना की है. फेसबुक पर एक पोस्ट में जेटली ने कहा है कि एक परिपक्व लोकतंत्र में जो झूठ के सहारे रहते हैं, वह सार्वजनिक जीवन के लिए कभी फिट नहीं बैठते. वित्त मंत्री जेटली ने कहा- ‘क्या मसखरे शहजादे (राहुल गांधी) मसखरा करते-करते थक गए हैं, इसलिए क्या अब खुद से ही मसखरी (मज़ाक) कर रहे हैं .

जेटली ने अपने पोस्ट में लिखा,’ राहुल उस रणनीति पर काम कर रहे हैं, जहां एक झूठ बनाकर बार-बार बोला जाता है. अगर आपको तथ्यात्मक चीजें नहीं जंचती, तो बेशक कोई और विकल्प देखिए. लेकिन, बार-बार एक झूठ को दोहराइए नहीं, क्योंकि ऐसा करने से सच झूठ में नहीं बदल जाएगा. सच तो सच ही रहेगा.’ जेटली ने आरोप लगाया- ‘राहुल गांधी आत्म भ्रम में जी रहे हैं.’

वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, ‘राहुल गांधी बार-बार आरोप लगाते हैं कि देश की एक निजी कंपनी को सरकार ने एक डील के जरिये 38,000 से 1, 30, 000 करोड़ तक का फायदा पहुंचाया. पहले जो हिंदुस्तान एयरोनॉटिक्स लिमिटेड (HAL) को मैन्युफैक्चर करना था, वो अब एक प्राइवेट कंपनी कर रही है, जिसे इसका अनुभव भी नहीं है.’

जेटली ने कहा, ‘राहुल के इन आरोपों में जरा सी भी सच्चाई नहीं है. क्योंकि राफेल एयरक्राफ्ट के पार्ट्स और देश में मैन्युफैक्चर ही नहीं किए जाते.’

वहीं, एनपीए को लेकर जेटली ने कहा, ‘लोन लेने वालों के डिफॉल्ट करने पर भी यूपीए सरकार ने एनपीए को छुपाकर रखा. राहुल गांधी की हकीकत तो यह है कि यूपीए सरकार ने बैंकों को लूटने दिया. लोन देते समय छानबीन नहीं की गई. उस समय की सरकार इस अपराध में भागीदार थी.

राहुल गांधी को ‘कम और गलत जानकार’ बताते हुए जेटली ने कहा, ‘फुटवियर की मैन्युफैक्चरिंग में भारत दुनिया का दूसरा बड़ा देश है. हम सालाना 20 हजार करोड़ रुपये का फुटवियर एक्सपोर्ट करते हैं. राहुल गांधी को फुटवियर इंडस्ट्री की सच्चाई जानने के लिए दिल्ली के पास बहादुरगढ़ का दौरा एकबार जरूर करना चाहिए.’

जेटली ने जीएसटी को लेकर भी राहुल गांधी पर हमले किए. उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष जीएसटी को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ कहते हैं. जबकि, देश में जीएसटी कितने बेहतर तरीके से लागू किया गया. इस टैक्स की वजह से देश अब एक मार्केट बन चुका है. सारे चेक पॉइन्ट्स हटा लिए गए. इसके पहले 17 तरह के टैक्स लगते थे, लेकिन जीएसटी के आने के बाद ये सारे टैक्स खत्म हो गए. वहीं, इनकम टैक्स रिटर्न भी अब ऑनलाइन फाइल किया जा सकता है. राहुल गांधी इन सच्ची बातों से अनजान हैं.’

 

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top