You are here
Home > देश > 2019 में शिवराजसिंह ने तो 2020 में जनता ने जलाए बिजली के बिल !

2019 में शिवराजसिंह ने तो 2020 में जनता ने जलाए बिजली के बिल !

#ElectricityBill
  • 2019 में शिवराज सिंह ने मंदसौर में कहा- ऐसे बिल को आग लगाने की जरूरत है
  • 2020 में शिवराज सरकार के बिजली के बिलों को मंदसौर की जनता ने आग लगाई

मंदसौर। सितम्बर 2019 में जब कमलनाथ की सरकार थी और पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंदसौर आए थे तब उन्होंने बिजली के बिल जलाए थे और बिजली बिल जलाते हुए यह कहा था- इस संकट की घड़ी में ” मैं सरकार को अपने मंदसौर के भाई-बहनों के साथ अन्याय नहीं करने दूंगा।” गरीबों को 100 रूपये प्रति माह बिजली का बिल का वादा करने वाली कमलनाथ सरकार बड़े-बड़े बिली भेज रही है, ऐसे बिल को आग लगाने की जरूरत है।

सितम्बर 2019 में मंदसौर में बिजली के बिलों को आग लगाते हुए शिवराज सिंह

लेकिन अब जब 2020 में शिवराज सिंह सरकार के राज में जो भारी भरकम बिल आये है उसके लिए मंदसौर की जनता ही बिजली के बिलों को आग लगा रही है। उस समय इतना संकट नहीं था लेकिन आज संकट कोरोना के रूप में तांडव कर रहा है, दो महीनों से लॉकडाउन चल रहा है, लोग घरों पर बैठे है, बाजार बंद है, उद्योग बंद है, लोग की आय पर भी लॉकडाउन लगा हुआ है और भाई-बहनों के साथ न्याय करने की बजाए शिवराज सरकार खुद अन्याय कर रही है। दो महीनों के बिजली के बिल माफ करने की बजाए मकानों, दुकानों, उद्योगों के भारी भरकम बिल पहुंचा दिए गए है। शिवराज सिंह के कथन अनुसार ऐसे बिलों को अब आग लगाई जा रही है।

बिजली का बिल जलाकर किया विरोध

मंदसौर में आज कई जगहों पर आम जनता एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने बिजली के बिलों में आग लगाकर विरोध दर्ज कराया। लोगों ने बिजली के बिलों की होली जलाकर प्रतीकात्मक विरोध किया एवं सरकार से मांग की कि कोरोना महामारी के समय के बिजली बिल सभी उपभोक्ताओं के माफ किये जायें ।

कमलनाथ ने भी किया ट्वीट

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि हम बिजली बिलों को लेकर कई बार शिवराज सरकार से मांग कर चुके हैं। लॉकडाउन को देखते हुए प्रदेश की जनता का 3 माह का बिजली का बिल तत्काल माफ किया जाए। साथ ही देश के अन्य राज्यों की तरह प्रदेश सरकार भी उद्योगों को इस संकटकाल में भी आ रहे भारी-भरकम बिजली बिलों में राहत प्रदान करे। लॉकडाउन की अवधि में करीब 60 दिन से उद्योग बंद पड़े हैं, फिर भी उन्हें लाखों के बिल थोपे जा रहे हैं। फिक्स्ड चार्ज से लेकर न्यूनतम यूनिट चार्ज, लाइन लॉस चार्ज, विलंब चार्ज सहित अन्य चार्ज में लॉकडाउन की अवधि में सरकार छूट प्रदान करे।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top