You are here
Home > राज्य और शहर > हरियाणा पुलिस मंदसौर आई, एक व्यक्ति को उठाया, फिर छोड़ना पड़ा

हरियाणा पुलिस मंदसौर आई, एक व्यक्ति को उठाया, फिर छोड़ना पड़ा

मंदसौर। हरियाणा पुलिस डोडाचूरी मामले में एक व्यक्ति को उठाने मंदसौर जिले में आई। जिले के दलौदा थाना क्षेत्र के ग्राम मोरखेड़ा से एक व्यक्ति को उठाया लेकिन मंदसौर जनपद उपाध्यक्ष परशुराम सिसौदिया व ग्रामीणों के विरोध के चलते हरियाणा पुलिस को खाली हाथ लौटना पड़ा। वहीं हरियाणा पुलिस की कार्यवाही को गलत बताते हुए परशुराम के नेतृत्व में ग्रामीणों ने एडिशनल एसपी मनकामना प्रसाद को ज्ञापन भी सौंपा।

मिली जानकारी के अनुसार शुक्रवार को दलौदा थाने के गांव मोरखेड़ा में हरियाणा पुलिस पहुंची और आजाद खां पिता भूरे खां मेवाती को हरियाणा पुलिस ने डोडाचूरी के मामले में उठा लिया। हरियाणा पुलिस की इस प्रकार की कार्यवाही की जानकारी ग्रामीणों ने कांग्रेस नेता व मंदसौर जनपद उपाध्यक्ष परशुराम सिसौदिया, सरपंच मांगीलाल परिहार को दी। सबने मिलकर हरियाणा पुलिस की इस कार्यवाही का पुरजोर विरोध किया। उल्लेखनीय है कि हरियाणा पुलिस के साथ जो डोडाचूरी का आरोपी आया था वह आजाद खां की पहचान भी नहीं कर पा रहा था इसके लिए हरियाणा पुलिस ने आजाद खां को रात में छोड़ दिया और खाली हाथ वापस लौट गई।

वहीं गांव के सरपंच मांगीला परिहार व ग्रामवासियों का कहना था कि आजाद खां मेवाती एक इज्जतदार व्यक्ति है, कभी भी इस तरह के गलत कामो में शामिल नही रहा है।

हरियाणा पुलिस की कार्यवाही को गलत बताते हुए परशुराम के नेतृत्व में दिया ज्ञापन

वहीं कांग्रेस नेता परशुराम के साथ आक्रोशित ग्रामवासियों ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनकामना प्रसाद से भेंट कर सरपंच के लेटरहेड पर लिखित में एक ज्ञापन देकर हरियाणा पुलिस की कार्यवाही को गलत बताया व इस तरह बेकसूर लोगो को अनावश्यक परेशान नही करने की मांग की। इस अवसर पर लक्ष्मीनारायण रावत, बालूराम रावत, कमल लोहार, रामनिवास चैहान, याकूब मेवाती, संदीप चैहान, दशरथ गोरना उदयलाल रावत, संदीप चैहान सहित ग्राम वासी उपस्थित थे।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top