You are here
Home > राजस्थान > प्रेम प्रसंग के चलते पीछा छुड़ाने के लिए दिलीप ने दिया था रानू को कुएं में धक्का !

प्रेम प्रसंग के चलते पीछा छुड़ाने के लिए दिलीप ने दिया था रानू को कुएं में धक्का !

#Pratapgarh #MurderCase #LoveAffair

हत्या का पर्दाफाश

प्रतापगढ़ । 27 अक्टूबर 2019 को छोटूलाल पिता देवीलाल लबाना निवासी टाण्डा की 18 वर्षीय पुत्री अपने घर से सुबह 5.30 बजे निकली थी जो वापस नहीं लौटी इस पर पुलिस ने गुमशुदगी का प्रकरण दर्ज किया था तथा गुमशुदा बालिका की तलाश प्रारंभ की थी, दिनांक 31 अक्टूबर को सुबह ईश्वर लाल पाटीदार के कुएं में लापता बालिका रानू की लाश तैरती हुई मिली जिस पर पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना प्रारंभ की ।

रानू की इस प्रकार संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मृत्यु को गंभीरता से लेते हुए जिला पुलिस अधीक्षक श्रीमती पूजा अवाना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अशोक मीणा के निर्देशन में उपअधीक्षक वृत्त छोटी सादड़ी गोपाल लाल के नेतृत्व में थाना अधिकारी दीपक कुमार, सउनि रघुनाथ सिंह, एचसी सुनिल कुमार, एचसी शिवनारायण हिम्मतदान कानि. ओमवीर, महेन्द्र, मोहनसिंह तथा साईबर सैल प्रभारी फेलीराम की टीम गठित की जाकर गहन अनुसंधान किया गया तो सुश्री रानू का अपने पड़ोस में ही एक लड़के दिलीप पिता जगदीश लबाना निवासी टाण्डा से प्रेम प्रसंग होने का पता चला । लड़के की शादी कही अन्य जगह तय होने से रानू व दिलीप के बीच विवाद होने लगा ।

इसी क्रम में दिनांक 27.10.2019 को सुबह जल्दी दिलीप व रानू पड़ोस में ही ईश्वर लाल पाटीदार के कुवे पर मिले जहां पर दिलीप ने रानू से पीछा छुड़ाने के लिये रानू को कुवे में धक्का देना जिससे रानू की मृत्यु हो गई फिर दिलीप लबाना फरार हो गया । साईबर सेल प्रभारी फेलीराम द्वारा उपलब्ध कराये गये तकनीकी साक्ष्यो के आधार पर गहन अनुंसधान कर गठित टीम द्वारा अभियुक्त दिलीप की सकुनत व संभावित स्थानों पर तलाश की जाकर मुखबिर मामुर किये गये ।

तत्पश्चात आज दिनांक को मुखबीर की सूचना पर टीम द्वारा अभियुक्त दिलीप को बोरी स्थित खेत से डिटेन कर मनौवैज्ञानिक तरीके से पूछताछ की गई। दिलीप ने बताया कि रानू धमकिया देने लगी कि अगर तुने मेरे साथ शादी नही की तो मैं तुझे समाज में बदनाम कर दूंगी जिससे दिलीप कुमार लंबाना काफी तंग व परेशान हो गया था दिनांक 27.10.2019 को रानू व दिलीप के बीच मोबाईल पर तीन चार बार बात हुई एवं फिर रानू रात्रि करीब 11-12 बजे दिलीप से मिलने के लिये दिलीप के कमरे पर आई जहां पर दिलीप ने फिर रानू को समझाईश कि तु अब मेरा पीछा छोड दे मगर रानू अपनी जिद पर ही अडी रही रानू मेरे पास कुछ समय तक रूकी हम दोनो के बीच उसी बात को लेकर विवाद हो रहा था उस दिन मुझे सारी रात नींद नही आई मैं बहुत परेशान हो गया था मैने सोचा कि सुबह रानू को बुलाते है एवं एक बार और समझाता हूं जिस पर सुबह करीब 5 मैं तथा रानू दोनो गांव के पास ही ईश्वर पाटीदार के कुवे पर गये वहां पर दिलीप रानू को समझाने लगा, समझाईश के दौरान दोनो के बिच आपसी विवाद होने से दिलीप ने रानू को कुंआ में जोर से धक्का दे दिया जिससे व सीधे कुएं में जा गिरी कुंआ पूरा पानी से भरा हुआ था जिससे उसकी मृत्यु हो गई फिर दिलीप कुमार लंबाना अपराध से बचने के लिये वहां से भाग गया ।

थाना धमोतर के प्रकरण सं. 159/2019 धारा 302 भादसं. अभियुक्त दिलीप कुमार लंबाना निवासी टाण्डा से गहणता से अनुसंधान किया अपराध प्रमाणित पाये जाने से गिरफ्तार किया गया अनुसंधान जारी है ।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top