You are here
Home > राज्य और शहर > मानसिक दिव्यांग बच्चों की सेवा को माना सच्ची ’गुरु भक्ति

मानसिक दिव्यांग बच्चों की सेवा को माना सच्ची ’गुरु भक्ति

सजेस महिला प्रकोष्ठ एवं संगिनी डायमंड मंदसौर ने मनाया गुरु पूर्णिमा

मंदसौर । कोई गुरु के प्रति श्रद्धा और समर्पण के लिए हजारों रुपए दान पेटी में डालता है तो कोई सोने-चांदी से गुरु का श्रृंगार करता है लेकिन ऐसे शख्स विरले ही होते हैं जो जरूरतमंदों की सेवा के माध्यम से गुरु भक्ति कर रहे हों। मानसिक दिव्यांग बच्चों की सेवा को माना सच्ची ’गुरु भक्ति’, बच्चे में सुधार ’गुरु दक्षिणा’ ।

सकल जैन समाज महिला प्रकोष्ठ मंदसौर एवं जैन सोश्यल ग्रुप डायमंड मंदसौर के संयुक्त तत्वावधान में दिव्यांग बच्चों के हॉस्टल, डाईट परिसर मंदसौर पर गुरुपूर्णिमा के अवसर पर स्वरित जैन के जन्मदिन के उपलक्ष्य में गरीब मूक बधिर बच्चों के साथ केक बांटकर जन्मदिवस की खुशियां मनाई, साक्षी जैन कई वर्षों से अपने बेटे स्वरित जैन का जन्मदिन दिव्यांग बच्चों एवं अपना घर के बच्चों के साथ मनाती आ रही है । इस अवसर पर सभी बच्चों को मिठाई एवं स्वल्पाहार वितरित किया गया । इस अवसर पर महिला प्रकोष्ठ महामंत्री पिंकी रजावत, अंशु चौरड़िया, कविता लोढ़ा, संगिनी संस्थापक अध्यक्ष साक्षी जैन, अध्यक्ष पीनल भुता, शशि मारू, ज्योति डोसी, पायल रांका, भारती अग्रवाल, सुनीता खाबिया, आभा दुग्गड़, राजकुमारी जैन, कल्पना डोसी, सीमा जैन, सीमा चौरड़िया, रंजना जैन, हार्दिक राजावत, सोमिल जैन, हर्षि राजावत, राशि रांका, काव्या लोढ़ा आदि उपस्थित थे । अंत में आभार भारती अग्रवाल ने माना, कार्यक्रम का संचालन शशि मारु ने किया ।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top