You are here
Home > राज्य और शहर > चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ की दिशा बदली, मध्यप्रदेश में ऑरेंज-यलो अलर्ट

चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ की दिशा बदली, मध्यप्रदेश में ऑरेंज-यलो अलर्ट

इंदौर। अरब सागर से उठे चक्रवाती तूफान ‘निसर्ग’ का प्रभाव आज शाम से मध्यप्रदेश के अधिकतर स्थानों पर देखने को मिल सकता है, जिसके चलते तेज हवाओं के साथ बारिश हो सकती है। मौसम विभाग ने प्रदेश के 16 जिलों भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है

इन शहरों में यलो और ऑरेंज अलर्ट

निसर्ग तूफान को देखते हुए मौसम विभाग ने रायसेन, नरसिंहपुर, होशंगाबाद, बुरहानपुर, बड़वानी, खरगोन, हरदा, अलीराजपुर, धार और खंडवा में यलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, छिंदवाड़ा, सिवनी, बालाघाट, डिंडौरी, उमरिया और मंडला में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में 40-50 किमी की रफ्तार से तेज हवाएं चलेंगी। इन जिलों में हल्की बारिश और बिजली गिर सकती है। चक्रवाती तूफान के प्रभाव में भोपाल, सागर, विदिशा, सीहोर, देवास, बैतूल, शाजापुर, दमोह, शहडोल, अनूपपुर, कटनी और जबलपुर में हवाओं के साथ हल्की बारिश की संभावना जताई गई है।

पर्यटन स्थलों को लेकर चेतावनी

भेड़ाघाट, पेंच और ओंकारेश्वर में तेज हवाओं के बिजली गिरने की संभावना है। इसके साथ पचमढ़ी, कान्हा और अमरकंटक में हवाओं के साथ हल्की बारिश की आशंका है। ऐसे में यहां पर्यटकों को जाने से मना किया गया है।

मुनादी के जरिए लोगों को सचेत करने के निर्देश

इंदौर कमिश्नर आकाश त्रिपाठी ने संभाग के 8 जिलों में तूफान को लेकर चेतावनी जारी की है। इसमें इंदौर, धार, झाबुआ, अलीराजपुर, खरगाेन, खंडवा बड़वानी और बुरहानुपर शामिल हैं। कमिश्नर ने तूफान को लेकर आदेश जारी करते हुए कहा कि आपदा प्रबंधन पूरी तरह से तैयार रहे। क्योंकि तूफान के कारण बिजली गिरने, हवाएं चलने और तेज बारिश की संभावना जताई गई है। ऐसे में हालात को देखते हुए जरूरत पड़ने पर संभाग के जिलों में लाउडस्पीकर से मुनादी करके, सोशल मीडिया के जरिए लोगों को सचेत करें। उन्होंने कहा कि कुछ जिलों में गेहूं और चने की खरीदी चल रही है। उपज को सुरक्षित स्थान तक नहीं पहुंचाया जा सका है, इसलिए जल्द उपज को वेयर हाउस तक पहुंचाया जाए। यदि ऐसा नहीं हो पा रहा है तो उपज को तत्काल तिरपाल से ढककर नुकसान से बचाएं।

उज्जैन: आकाशीय बिजली गिरने का खतरा

तूफान को देखते हुए उज्जैन कलेक्टर आशीष सिंह ने जिलेवासियों से अपील की कि सभी घर पर ही रहें। मौसम विभाग के अनुसार यहां 50 किलोमीटर प्रतिघंटे की रफ्तार से हवाएं चलने की संभावना है। बारिश के साथ ही आकाशीय बिजली की भी संभावना है। ऐसे में तेज हवाओं से पेड़ गिरने, कच्चे मकानों के खपरैल उड़ने, फसलों को नुकसान होने की संभावना है। ऐसे में जितना कम हो घरों से बाहर निकलें। इसके अलावा सिंह ने एसडीएम, तहसीलदार, पुलिस सहित अन्य अधिकारियों को मौके पर रहते हुए हर परिस्थिति पर नजर रखने के निर्देश दिए गए हैं।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top