You are here
Home > राज्य और शहर > मध्यप्रदेशः मंदसौर में कोरोना पॉजेटिव छात्र ने विशेष व्यवस्था के बीच दी परीक्षा, कलेक्टर ने नहीं बिगड़ने दिया छात्र का भविष्य

मध्यप्रदेशः मंदसौर में कोरोना पॉजेटिव छात्र ने विशेष व्यवस्था के बीच दी परीक्षा, कलेक्टर ने नहीं बिगड़ने दिया छात्र का भविष्य

मंदसौर, 17 August। मंदसौर जिला कलेक्टर मनोज पुष्प ने कोविड-19 महामारी के बीच एक छात्र के लिए विशेष व्यवस्था करवाकर उसकी परीक्षा संपन्न करवाई। छात्र 12वीं का छात्र है तथा उसे रसायन शास्त्र में सप्लीमेन्ट्री आई थी। छात्र की आज सप्लीमेंट्री का पेपर था। कलेक्टर मनोज पुष्प के सराहनीय प्रयास के लिए छात्र के पिता विष्णु देवड़ा ने कलेक्टर को धन्यवाद दिया। विष्णु देवड़ा ने कहा कि कलेक्टर द्वारा उनके बच्चे की परीक्षा के इंतजार के कारण उनके बच्चे का भविष्य आज बच गया, छात्र के पिता उसकी परीक्षा के लिए काफी परेशान व चिंतित थे।

कोविड सेंटर प्रभारी विपिन सक्सेना ने बताया कि परीक्षा के पूर्व छात्र का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया था, साथ ही एक डॉक्टर उसके पास ड्यूटी पर ही है ताकि बच्चे को कोई परेशानी ना हो। सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षा करवाई जा रही है, जिला प्रशासन के आदेश पर सारी व्यवस्था की गई है ।

कलेक्टर मनोज पुष्प ने बताया कि किसी का भी अतिआवश्यक काम रुकने नही दिया जाएगा । परीक्षा ना देने पर बच्चे का भविष्य प्रभावित होता है। विधिवत परीक्षा दी जा रही है। सब इंतजाम किए गए हैं। बच्चा जब कोविड सेंटर आया था तो साथ मे किताबे भी लाया था, ऐसे में यदि परीक्षा ना दे पाए तो नुकसान होता। हमने भोपाल शिक्षा विभाग से संपर्क करके यही कोविड सेंटर में परीक्षा का आयोजन करवाया है।

उल्लेखनीय है कि जिले की शामगढ़ नगरपालिका में कार्यरत विष्णु देवड़ा खुद पॉजिटीव आ गए थे। जब वे ठीक होकर घर पहुंचे और उनके परिवार की जांच की गई तो उनकी पत्नी, बच्चो सहित 5 लोग पॉजिटीव पाए गए। उनके एक बेटे को 12 वी में सप्लीमेंट्री आई थी, सप्लीमेंट्री की परीक्षा आज 17 अगस्त को होंना थी। लेकिन बच्चा कोविड सेंटर में भर्ती था। बच्चे के पिता विष्णु देवड़ा ने जिला कलेक्टर से संपर्क कर समस्या बताई। जिस पर कलेक्टर मनोज पुष्प ने तुरन्त भोपाल संपर्क कर, बच्चे को कोविड सेंटर में ही सीसीटीवी व डॉक्टर की निगरानी में परीक्षा सम्पन्न करवायी। इस परीक्षा में कोरोना बचाव के साथ-साथ बोर्ड परीक्षा के प्रोटोकाल का भी पूरा पालन किया गया।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top