बच्चों का मोबाइल प्रेम जोखिमपूर्ण, मोबाइल सिर्फ बच्चों की जरूरत रहे, लत न बने

फेसबुक पर छलका सामाजिक कार्यकर्ता टीना सोनी का दर्द,लिखा–लोटखेडी की घटना से सबक लें परिजन मंदसौर, 07 जनवरी । मोबाइल का नशा बच्चों को चिड़चिड़ा बनाकर उनके व्यवहार में बदलाव ला रहा है। चिड़चिड़ेपन के साथ ही बच्चों में नींद की कमी, बेचैनी, खाने के समय में बदलाव से पाचन शक्ति

कैसे मिलेगा मध्यप्रदेश में महिलाओं को न्याय ?

प्रदेश के जिलों के महिला डेस्क की स्थापना तो हुई लेकिन स्टॉफ की कमी के चलते नहीं हो पा रहा है महिला डेस्क का संचालन ! मंदसौर जिले में भी 14 थानों में महिला डेस्क स्वीकृत लेकिन कुछ ही थानों पर महिला डेस्क का हो रहा है संचालन Special Report मंदसौर, 05 जनवरी

मंदसौर-नीमच जिला बन चुका है वैश्यावृत्ति का बड़ा हब

गरीबी और अशिक्षा का फायदा उठा रहे है मानव तस्कर..! पूर्व पुलिस अधीक्षक डॉ.पाठक ने दिखाई थी मानव देह व्यापार में विशेष रूचि पूर्व टीआई श्री अनिरूध्द वाधिया एवं ज्योति शर्मा ने निभाई थी महत्वपूर्ण जिम्मेदारी स्पेशल रिपोर्ट मंदसौर, 04 जनवरी । मंदसौर-नीमच जिला मानव तस्करी और वैश्यावृत्ति का बड़ा हब बनता जा रहा

“हे कृष्ण इस कोरोना काल से तारो”

अंधियारी काल-कोठरी को तुमने जन्मस्थल बनाया, पर कंस के भयंकर त्रास से भक्तों को बचाया। धन्य वे देवकी-यशोदा जो तुम्हें कान्हा रूप में पाया, तुमने अनेक मायावियों को भी मोक्ष का मार्ग दिखाया। इस दानव विषाणु ने जग में हाहाकार मचाया, तुमने अनेक असुरों को क्षण भर में हराया। हे माधव अद्भुत है

ज्योति ने केवल महिलाओं को ही नहीं प्रोत्साहित किया, बल्की जो पुरष ने अपना घर चलाने की जिम्मेदारी ली थी उन्हें भी प्रेरित किया-स्नेहा वाघ

मुंबई, 30 जुलाई 2020: 10 साल पहले सास बहू ड्रामा से भरपूर के समय में ज्योति जैसा शो जिसमे मजबूत महिला को चित्रित करना उनके टीम द्वारा एक बहुत ही साहसी कदम था। शो में बताया गया है कि कैसे ज्योति अपने पूरे परिवार की जिम्मेदारियों को अपने ऊपर लेती

बच्चों की तरह करे परवरिश, पेड़ो की भी…

आजकल हर रोज अखबार के दो-तीन पेज पौधा रोपण की खबरो से भरा हुआ होता हैं। हर प्रति वर्ष यही प्रक्रिया चलती रहती हैं। हर वर्ष सैकड़ो संस्थाएं पौधा रोपण करती हैं। बड़े-बड़े नेता, उच्च पदाधिकारी पौधा रोपण करते हुए अखबारो व अन्य सोशल मीडिया पर बड़े-बड़े फोटो व खबरों

कोरोना कहर: “मीडिया” समाज के सजग सिपाही

कोरोना विषाणु से जंग में प्रशासन, अनिवार्य सेवाएँ देने वाले समस्त विभाग अपने कर्तव्य का पूर्णतः निर्वहन कर रहे है, वही जनमानस भी घरों में रहकर अपना योगदान दे रहे है। परंतु हमारे देश का एक स्तंभ ऐसा भी है जो दिन-रात प्रशासन की योजनाओ, उनके क्रियान्वयन एवं उससे संबन्धित

“कोरोना विस्फोट में बढ़ती जनसंख्या एक चिंता का विषय”

बढ़ती हुई जनसंख्या आज सम्पूर्ण विश्व के लिए एक चुनौती बनी हुई है। प्रतिवर्ष 11 जुलाई को सम्पूर्ण विश्व में बढ़ती जनसंख्या के मुद्दे पर लोगो की जागरूकता को बढ़ाने के लिए विश्व जनसंख्या दिवस मनाया जाता है। इस दिवस को मनाने का मुख्य उद्देश्य बढ़ती जनसंख्या संबन्धित समस्याओं पर

“स्वदेशी अपनाओ: आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ाओ”

गलवान घाटी की घटना ने भारतवासियों के हृदय को झंकझोर दिया है। चीन के इस छल से जो इन शहीदों का बलिदान हुआ है इस कारण भारतवासियों के मन में बहुत ज्यादा आक्रोश उत्पन्न हुआ है, और देशवासियों ने स्वदेशी उत्पाद को ही क्रय करने का निर्णय लिया है। डॉ. रीना

Fathers Day Special: “पिता का व्यक्तित्व”

प्रतिवर्ष जून माह के तृतीय सप्ताह को फादर्स दे (पितृ दिवस) मनाया जाता है। माता के पश्चात संतान के जीवन में पिता की सबसे अहम भूमिका होती है। इसी परिप्रेक्ष्य में प्रस्तुत है डॉ. रीना रवि मालपानी द्वारा रचित कविता:- "पितृत्व दिवस विशेष: पिता का व्यक्तित्व" एक सहज, सरल,उदार व्यक्तित्व, निराशा में