You are here
Home > राज्य और शहर > भानपुरा नहर योजनाः पाईप का जाइन्ट खुल जाने से नहर का पानी खाल में बहा

भानपुरा नहर योजनाः पाईप का जाइन्ट खुल जाने से नहर का पानी खाल में बहा

मंदसौर/भानपुरा । भानपुरा नहर योजना यूनिट 2 को लोकार्पित हुए अभी 12 दिन हुए हैं। साडे 28 किलोमीटर लंबी इस नहर से 34 गांव की 13250 हैक्टर भूमि सिंचित होगी। 6 नवंबर को नहर नग्गा का डेरा के यहां टूट गई थी व कई स्थानों पर क्षतिग्रस्त हुई थी। 12 नवंबर को एक बार फिर सांनडा, ढाबला माधोसिंह क्षेत्र में मुख्य नहर को खाल से होकर मुख्य नहर को जोड़ने के लिए लगाए गए पाइप का जॉइंट खाल में खुल जाने से नहर का पानी लगातार बीच में स्थित खाल में बह गया और समाचार लिखे जाने तक बह रहा था। पुलिस प्रशासन जल संसाधन विभाग व ठेकेदार का महकमा लगा है ठीक करने में। इस प्रतिनिधि ने मौका स्थल का दौरा किया उसमें यह साफ नजर आया की अज्ञात ग्रामीणों ने सानडा की मेन नहर से ढाबलामाधो सिंह की ओर जा रही माइनर नहर में तेजी से पानी लेजाने के लीये मेन नहर में मिट्टी के कट्टे वह मक्का की घास के पुलों से रोक लगाई पर जब विद्युत कटौती हुई। तब विद्युत मोटर बंद होने से नहर में एकदम तेजी से पानी आया और वह मक्का की घास के पुलों व मिट्टी बहा ले गया व नहर को जोड़ने वाले पाइप में फंस गया और दबाव के कारण पाइप का जॉइंट खुल गया। उससे रविवार सुबह से ही भारी पानी बह रहा है । सानड़ा के किसान मुरलीधर गुर्जर, रामगोपाल, मदन गुर्जर, हेमराज गुर्जर, बापूलाल सहित कई किसानों ने नहर स्थल पर बातचीत में बताया कि पाइप में मक्का के घास के पुले फस गए हैं। इस से पाइप खुल गए। व रात 2 बजे से ही यह पानी खाल में बह रहा है। ढाबलामाधो सिंह, नई आबादी क्षेत्र की माइनर नहर में पानी जल्दी से और तेजी तेज गति से लेजा ने के लिए यह अवरोध लगाया। उधर किसानों ने कहा कि पानी बहने से नुकसान हो रहा है। और आगे नहर बंद होने से हमारे खेतों में पानी पहुंचने में देरी होगी। भले ही विभाग किसानों पर आरोप लगाए पर विभाग की चूक नजर आती है। उन्होंने ऐसे पॉइंट पर सतर्कता व सुरक्षा बरतना थी। जिससे इस प्रकार की घटना ना हो।

उधर एसडीओ मालसिंह चौहान व नहर प्रभारी जगदीश बागड़ी का कहना था कि  चलती नगर में अवरोध लगाने से पाइप जाम हो गए और पाइप का जॉइंट खुल गया। खाल में पानी बहुत है लगातार ठीक करने का कार्य जारी है शाम तक ठीक कर दिया जाएगा। नाहर क्षतिग्रस्त नहीं हुई है, केवल नहर से नहर को जॉइंट करने जोड़ने के लिए बीच खाल में रखे पाइपों का जोड खुल गया है। दोनों ने किसानों से कहा कि वह नहर के पानी का उपयोग नियमानुसार ले पानी बहुत है सबको मिलेगा।

विधायक चंदर सिंह सिसोदिया ने कहा की कतिपय असामाजिक तत्व सरकार की छवि खराब करना चाहते हैं। वह नहर में लगातार अवरोध पैदा कर रहे हैं। किसानों ऐसे तत्व से सावधान रहें व नहर के पानी का उपयोग करें। जो भी तत्व नहर को क्षति पहुंचा रहे हैं उनका नाम निडर होकर बताएं । यह नहर क्षेत्र के लिए वरदान है। आपने कहा कि घटिया निर्माण के जो भी आरोप लगाए जा रहे हैं आधार इन्हें फिर भी जांच कराई जाएगी । उधर बाकी क्षेत्र में नहर के पानी से सिंचाई का कार्य जारी है ।

Sharing is caring!

Similar Articles

Leave a Reply

Top