You are here
Home > राजस्थान > रेलवे के कायाकल्प के लिये सरकार प्रतिबध्द-सांसद जोशी

रेलवे के कायाकल्प के लिये सरकार प्रतिबध्द-सांसद जोशी

जी.एम.एवं डी.आर.एम. ने सांसद से की भेंट

चित्तौड़गढ़ । केन्द्र सरकार रेलवे के आधारभूत ढ़ाचे सहित यात्री सुविधा, विद्युतिकरण दोहरीकरण तथा रेलवे स्टेशन आधुनिकीकरण के साथ-साथ रेलवे के समग्र कायाकल्प को लेकर कटिबध्द हैं। उक्त बात सांसद सी.पी.जोशी ने शुक्रवार को रेलवे अधिकारियों के समक्ष बातचित के दौरान कहीं। उत्तर पश्चिम रेलवे के महाप्रबंधक आनन्द प्रकाश एवं मण्डल रेल प्रबन्धक नवीन कुमार ने चित्तौड़गढ़ रेलवे स्टेशन पर विशेष मुलाकात की।

मुलाकात के दौरान चित्तौड़गढ़ लोकसभा के उत्तर पश्चिम रेलवे क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यो को लेकर अधिकारियों ने सांसद जोशी को अवगत कराया। इस अवसर पर सांसद जोशी ने कहा कि सोनियाना, गंगरार, डेट, घोसुण्डा, नेतावल, पाण्डोली, कपासन, भूपाल-सागर, फतह नगर, मावली जंक्शन, भीमल, खेमली, देबारी आदि स्टेशनों सहित पूरे रेल मार्ग पर चल रहे विकास कार्यो की उचित निगरानी करे, विशेषकर रेलवे स्टेशनों पर होने वाले विकास पर चर्चा की। सांसद जोषी ने इस अवसर पर अधिकारियों को विभिन्न विकास कार्यो के प्रस्तावों से भी अवगत करायाउक्त प्रस्तावों में ग्रा.प. बोयणा तह. मावली, जिला उदयपुर में ट्रेनो के ठहराव हेतु रेलवे स्टेशन की अति आवश्यकता है। जिससे आस-पास के निवासियाें को रेलवे की सुलभ यात्रा का लाभ मिल सकेगा। यहां से प्रतिदिन लगभग 4000 लोग उदयपुर, फतहनगर, कपासन व चित्तौड़गढ़ डेली अपडाउन करते हैं। इसलिए ट्रेनो के ठहराव हेतु रेलवे स्टेशन का निर्माण कराया जाये।

मावली जं. रेलवे स्टेशन अत्यन्त महत्वपुर्ण स्टेशन है। यहॉ पर लगभग सभी यात्री गाड़ीयों का स्टॉपेज है, लेकीन कोच गाईडिंग सिस्टम तथा कोच डिस्प्ले सिस्टम के नही होने के कारण यहॉ पर यात्रीयों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। यहॉ पर महिलाओं तथा वरिष्ठ नागरिकों को अपने कोच की सही स्थिति पता नही चल पाती हैं तथा सभी ट्रेनों का मात्र 1 अथवा 2 मिनट ही स्टोपेज होने के कारण जल्दबाजी में हमेशा दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है। अत: मावली जं. पर कोच गाइडेंस सिस्टम/कोच डिस्पले सिस्टम को स्थापित करवाने की आवश्यकता है।

मावली से नाथद्वारा जाने वाले यात्रियों तथा वाहनों को मावली जं. स्टेशन से घने बाजार के साथ 5-6 किमी की दुरी तक उदयपुर-चित्तौडगढ हाईवे से घुम कर आना पड़ता है। मावली जं. आने तथा जाने दोनो समय में 2 घन्टे का समय व्यर्थ हो जाता है। इस कारण से पुलिया संख्या 51 से प्लेटफार्म नं 1 तक पक्का रास्ता बन जाता हैं तो वाहनों को पुरे बाजार तथा हाईवे से घुम कर नही जाना पडेगा। इससे नाथद्वारा, कांकरोली, राजसमंद की तरफ से स्टेशन को आने वाले वाहन बाजार में गये बिना ही सीधे प्लेटफार्म नं. 1 तक पहुंच पायेंगे।

कानोड़ रेलवे स्टेशन का नाम अपग्रेड होने वाले रेलवे स्टेशन की सूची में नही हैं। जबकि कानोड़ रेलवे स्टेशन से लगभग एक लाख का आबादी क्षेत्र जुड़ा हुआ है। पूर्व में भी कानोड़ रेलवे स्टेशन पर क्रासिंग, माल गाड़ी गोदम व मालगाड़ी लोड़िग की सुविधा विद्यमान थी। कानोड़ रेलवे स्टेशन पर रेलवे की पर्याप्त भूमि की उपलब्धता भी है। इसे भी अपग्रेड कर बड़ा रेलवे स्टेशन बनाया जाये।ग्राम – बागथल, ग्राम पंचायत – धमानिया, तह.-वल्लभनगर जो की वर्तमान में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की एकमात्र सडक से जुडा है लेकिन मावली-बड़ीसादडी रेलवे आमान परिवर्तन कार्य से इस सडक की वर्तमान फाटक को बन्द किया जा रहा है, चूंकि यह गांव पहले से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से जुडा हुआ है तो भविष्य में यहॉ के निवासी कभी भी रोड से नही जुड पायेंगे, अत: आपसे निवेदन है की मावली-बड़ीसादडी रेलवे लाइन के फाटक संख्या 16 व 17 के मध्य में अन्डरब्रिज की स्वीकृति प्रदान करवायें।बागथल से वल्लभनगर सड़क मार्ग पर स्थित ग्राम – धमानिया, पं.स. – भीण्डर के रेल मार्ग एल.सी. नं.16-सी तथा एल.सी. नं.17-सी के मध्य पर अण्डरपास निर्माण करवाया जाये ।

कपासन रेलवे स्टेशन पर निर्माणाधीन ओवरब्रिज का कार्य रूका हुआ जिसे शिघ्रता से पूर्ण कराया जाये। कपासन रेलवे स्टेशन पर स्वीकृत तीसरी रेलवे लाईन का निर्माण आरम्भ करवाया जाये तथा प्लेटफार्म शेड़ एवं यात्री सुविधाओं का भी निर्माण कराया जाये। कपासन रेलवे स्टेशन पर बन रहे फूट ओवर ब्रिज की लम्बाई बढाकर बुध्दाखेडा ग्रामवासियों के आवागमन हेतु सुविधा उपलब्ध करायी जाये। कपासन स्टेशन से उदयपुर मार्ग की तरफ बने रेलवे अण्डर ब्रिज की क्षतिग्रस्त सडक को ठीक करवाया जाये। स्थानीय प्लेटफॉर्म यात्री ट्रेनों के क्रासिंग के लिए तीसरी लाईन का निर्माण कराया जाये।

उदयपुर से कोटा एवं कोटा से उदयपुर के लिये गाड़ी संख्या 09679-09680 आरम्भ की गई। इस गाडी के आरम्भ होने से यात्रियों को उदयपुर से कोटा एवं कोटा से उदयपुर आने एवं जाने के लिये अत्यंत सुलभ साधन उपलब्ध हो पाया। रेलवे द्वारा इस गाड़ी को 31 दिसम्बर 2019 से नहीं चलाया जा रहा हैं। क्षेत्रवासियों एवं यात्रियों की सुविधा को ध्यान में रखते हुये इस गाड़ी को नियमित संचालित कराया जाय।जयपुर से पुणे वाया चित्ताौड़गढ़ ट्रेन आरम्भ की जाये। उदयपुर-हरिद्वार 19609/19610 ट्रेन को सप्ताह में सातों दिन चलाया जाये। अमृतसर-अजमेर ट्रेन 19612 का उदयपुर तक विस्तार किया जाये। मेवाड़ वागड़ के लोंगो को उत्तार भारत में जाने के लिये वर्तमान में असुविधा होती है अमृतसर से अजमेर तक चलने वाली ट्रेन का उदयपुर तक विस्तार होने से यात्रियो को लाभ मिलेगा। उदयपुर सिटी-बान्द्रा सुपरफास्ट एक्सप्रेस 12995-12996 एवं उदयपुर खजुराहो 19665-19666 का एवं 22901-22902 का कपासन स्टेशन पर ठहराव किया जाये।उदयपुर-जयपुर इंटरसिटी एक्सप्रेस 12991-12992 का चन्देरिया स्टेशन पर ठहराव किया जाये।

गंगरार के निकट भीलवाड़ा-चित्तौड़गढ़ रेल लाईन पर एल.सी. संख्या 79 पर यातायात का अत्यन्त दबाव रहता है। इस रूट पर ट्रेनों की अधिक आवाजाही के कारण फाटक अधिकतर समय बन्द रहती है जिसके कारण से लोगों को अत्याधिक परेशानी का सामना करना पड़ता है।अत: इस संबध में मेरा आपसे निवेदन हैं की क्षेत्रवासियों की समस्या को ध्यान में रखते हुये एल.सी. संख्या 79 पर रेलवे अण्डरपास का निर्माण करावें।मावली से बड़ीसादड़ी रेलवे लाईन से गुजर रहे बड़वाई से डूगला सड़क मार्ग पर एल.सी. नं. 62 पर रेलवे द्वारा निर्मित रेलवे अण्डर पास में पानी भरा रहने के कारण ग्रामीणों एवं यात्रियों को आने-जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। इस रेलवे अण्डर पास से मात्र 25 फिट की दुरी पर बड़वाई का पक्षी विहार तलाब है जिसका लेवल इस अण्डर पास से काफी ऊंचा है जिसकी वजह से तलाब के पानी से हो रहे रिसाव के कारण उक्त  अण्डर पास में पानी भरा रहता हैं। पानी भरे रहने के कारण मरीजाें और विद्यार्थियों को भारी असुविधा हो रही हैं साथ ही यात्रियों एवं ग्रामीणों को आवाजाही में समस्या का सामना करना पड़ रहा हैं। उक्त अण्डर पास के पास ही छोटा अण्डर पास का निर्माण करवाया जाये। मावली से बड़ीसादड़ी रेलवे लाईन पर स्थित भीण्डर रेलवे स्टेषन पर निर्मित अण्डर पास में हमेशा पानी भरा रहना से यहाँ रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण कराया जाये जिससे यात्रियों, ग्रामीणों एवं विषेषकर विद्यार्थियों को विद्यालय जाने में हो रही असुविधा का स्थायी समाधान हो सकेगा एवं एल.सी. नं. 55 पर भीण्डर से धारता जाने वाले मुख्य मार्ग पर गांव मदनपुरा व धारता के मध्य निर्माणधीन अण्डर पास में पानी भरने के कारण ग्रामीणों एवं यात्रियों को आने-जाने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं। उक्त अण्डर पास के पास ही छोटा अण्डर पास का निर्माण करवाया जाये।

एल.सी. नं. 62 (गांव बड़वाई), एल.सी. नं.71 (गांव करसीयो का खेड़ा), एल.सी. नं.74 (गांव सारंगपुरा) पर निर्मित अण्डरब्रिज में भरे हुये पानी की निकासी का स्थायी समाधान एवं पानी नहीं भरे ऐसी व्यवस्था की जाये। मावली-बड़ीसादड़ी रेलवे लाईन फाटक संख्या 41 से स्थानीय निवासियों एवं किसानों के खेत पर जाने का आम रास्ता हैं। इस फाटक से आवाजाही का सबसे प्रमुख मार्ग जाता हैं। अत: उक्त फाटक संख्या 41 पर अण्डर पास का निर्माण कराया जाये अथवा इस फाटक के मार्ग को निकट स्थित फाटक संख्या 40 से जोड़ा जाये जिससे स्थानीय निवासियों एवं किसानों को आवाजाही में हो रही असुविधा का स्थायी समाधान हो सकेगा।मावली-बड़ीसादड़ी रेलवे लाईन पर एल.सी. नं. 58 के पास राजस्व रिकार्ड में दर्ज मार्ग डाबियों का खेड़ा-जंवतरा मार्ग पर स्थित हैं, यह जंवतरा जाने एवं गांव डाबियों का खेड़ा से भीण्डर-कानोड़ जाने का प्रमुखतम मार्ग हैं। इस सड़क मार्ग पर रेलवे लाईन निर्माण से ग्रामीणों और यात्रियों के आवाजाही का मार्ग बाधित हो रहा हैं, विशेषकर विद्यार्थियों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा हैं। अत: मावली-बड़ीसादड़ी रेलवे लाईन पर डाबियों का खेड़ा-जंवतरा मार्ग के निकट आवाजाही हेतु अण्डर पास का निर्माण करावें।  कपासन के निकट स्थित रेलवे लाईन पर स्थित एल.सी. नं. 33, 34, 39, 41 पर निर्मित अण्डरब्रिज से आवागमन में यात्रियों एवं ग्रामीणों को असुविधा का सामना करना पड़ रहा हैं, एल.सी. नं. 33, 39, 41  में वर्षाकाल में स्थायी रूप से पानी भरा रहता है तथा पर इसका स्थायी समाधान किया जाये। एल.सी. नं. 39 पर अण्डरपास निर्माण हेतु स्टे लगा हुआ हैं जिसका समाधान कराया जाये, साथ ही एल.सी. नं. 34 को रेलवे द्वारा बन्द कर दिया गया हैं उसे चालु कराया जाये।उक्त विभिन्न प्रस्तावों को लेकर अधिकारियों को कहा कि इस सभी कार्यो को लेकर विभाग शीघ्र विचार करे एवं रेलवे के सर्वागिण विकास में यह प्रस्ताव भी सम्मिलित हो ।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Top