You are here
Home > मध्यप्रदेश > मण्डी व्यापारी को लूटने का प्रयास करने वाले गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा

मण्डी व्यापारी को लूटने का प्रयास करने वाले गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा

मंदसौर । 7 फरवरी को कृषि उपज मंडी रोड़ पर मंडी व्यापारी प्रकाश पाटीदार व रामेश्वर पाटीदार की आंखों में दिनदहाड़े लाल मिर्च पाऊडर डालकर रुयये की लुट का प्रयास किया गया था। मामले में थाना व्हायडीनगर में अपराध क्रमांक 56/20 धारा 393, 323, 34 भादवि का पंजीबध्द किया जाकर विवेचना मे लिया गया था ।

पुलिस अधीक्षक श्री हितेश चौधरी के निर्देशन में टीम का गठन कर आरोपीयो की पतारसी हेतु भरसक प्रयास किए गये। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए उक्त प्रकरण में अज्ञात आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु 10000 रुपये के इनाम की घोषणा भी की गयी थी । इसी तारतम्य में शहर के विभिन्न सीसीटीवी कैमरों की फुटेज, मुखबीरों व तकनीकी  शाखा का सहयोग प्राप्त करते हुये प्रकरण में लगातार संदिग्धों से पुछताछ की जा रही थी । मंदसौर पुलिस द्वारा मामले में आरोपीयों की धर पकड़ हेतु उच्च स्तरीय प्रयास करते हुये मामले का खुलासा किया जाकर लूट काण्ड में सूचना पर आरोपीयो की पहचान कर 1. इमरान पिता अब्दुल रशीद 2. नयुम पिता शब्बीर अजमेरी 3. फैजान पिता चांद मोहम्मद मंसुरी 4. समीर उर्फ काला पिता इसरार मेवाती 5. जुबेर पिता मोहम्मद हुसैन खलीफा 6. शाहिद पिता आरिफ शाह मंदसोर में उनके संभावित स्थानों पर दबिश दी जाकर गिरफ्तार कर आरोपीयों से उक्त काण्ड में प्रयुक्त मोटर सायकल हीरो कंपनी एच.डी. डीलक्स , मोबाईल फोन, जेकेट एवं   फरियादी का फोटो जप्त किए गये ।

घटना घटित करने का तरीका

घटना के 15 दिन पहले अन्नु उर्फ नाटी मेवाती और नयुम अजमेरी जो कि मंडी मे हम्माल हैं जिसने मण्डी व्यापारी राधेयाम पाटीदार की कृषि उपज मंडी मे दुकान से सेठ जी के रोजाना आने जाने का समय घ्यान में रखते हुये अपने साथियो फैजान मंसुरी, समीर उर्फ काला मेवाती, जुबैर हुसैन और शाहीद शाह द्वारा दिनांक 6.2.2020 को सभी श्रीजी पार्क कालोनी मे शाम को आपस मे मिले और योजना बनाई की एक मोटर सायकिल पर इमरान और नयुम जाऐगें बाकी सभी लोग वन विभाग नर्सरी के पास जहां सुनसान रहता है वहां पर पहले से खड़े रहेगें एवं जुबेर अपनी मोटर सायकिल एच.डी. डीलक्स लाया एवं समीर और जुबेर दोनो लाल मिर्ची का पाउडर लाकर नयुम को दिया अन्नु उर्फ नाटी द्वारा एक देशी कट्टा लाया। अगले दिन दोपहर 12 बजे के करीब सभी लोग वापस श्रीजी पार्क मे मिले जहां पर जुबेर अपनी बिना नंबर की एच एफ डीलक्स मोटर सायकिल लेकर इमरान को दी ओर अन्नु उर्फ नाटी ने राधेयाम सेठ का फोटो इमरान को दिया और बोला कि ये सेठ है इसको फोटो से पहचान लेना अगर नही पहचान पाओ तो नयुम ने उसे पहले देख रखा है वो पहचान लेगा उसके बाद समीर उर्फ नाटी ने समीर उर्फ काला का काले रंग का छोटा मोबाईल इमरान को दिया और बोला कि सेठ जी के बैंक से निकलने के समय पहले से मे इस पर फोन लगा दुंगा। समीर और जुबेर दोनो लाल मिर्ची का पाउडर लेकर आये थे जो उन्होने नयुम को दे दिया था। उसके बाद इमरान और नय्युम श्रीजी पार्क कालोनी मे ही रूक गये थे और अन्नु उर्फ नाटी, फैजान, जुबेर, समीर उर्फ काला और शाहीद कृषि उपज मडी से पहले वन विभाग की नर्सरी पर जाने के लिये चले गये थे। योजना अनुसार पाटीदार सेठ नर्सरी के पास पहुंचा तो नयुम ने पाटीदार सेठ के उपर लाल मिर्ची पाउडर फेंका और पाटीदार सेठ की स्पलेण्डर बाईक को लात मार दी इतने मे पाटीदार सेठ और उसके पीछे बैठा आदमी दोनो नीचे गिर गये तो नयुम ने पाटीदार सेठ से झोला छीनने लगा तो सेठ ने नयुम की कालर पकड कर खिंच लिया तो नयुम और इमरान दोनो निचे गिर गये थे । नयुम ने चाकु निकाला पर वो भी नयुम के हाथ से निचे गिर गया था उसके बाद वहां पर अधिक भीड होने फरार हो गये ।

गिरफ्तार आरोपी का नाम

इमरान पिता अब्दुल रशीद उम्र 22 साल निवासी नयापुरा मंदसौर, 2. नयुम पिता शब्बीर अजमेरी उम्र 25 साल निवासी ग्राम बाजखडी थाना नईआबादी मंदसौर , 3. फैजान पिता चांद मोहम्मद मंसुरी उम्र 19 साल निवासी नयापुरा कर्मचारी कालोनी मंदसौर, 4. समीर उर्फ काला पिता इसरार मेवाती उम्र 19 साल निवासी सोनगरी थाना दलोदा मंदसौर, 5.जुबेर पिता मोहम्मद हुसैन खलीफा उम्र 19 साल निवासी 500 क्वाटर टिगरिया मंदसौर, 6. शाहिद पिता आरिफ शाह उम्र 20 साल निवासी नयापुरा मंदसौर ।

फरार आरोपी का नाम

अन्नु उर्फ नाटी मेवाती पिता शेरषाह निवासी नयापुरा मन्दसौर ।

सराहनीय कार्य

शिव कुमार यादव , थाना प्रभारी कोतवाली मंदसौर, एस.एल. बौरासी, थाना प्रभारी व्हायडी नगर मंदसौर, उनि अभिषेक बौरासी, उनि मनोज महाजन, उनि संदीप मोर्य, उनि बापुसिंह बामनीया, सउनि संजय प्रताप सिंह, प्रधान आरक्षक अजय चैहान, आरक्षक रघुवीर सिंह, आरक्षक विकास सिंह, आरक्षक सुनिल सोलंकी, आरक्षक मुकेश, आरक्षक 639 आशीष बैरागी, आरक्षक गिरीश, आरक्षक 681 दिग्पालसिंह, आरक्षक 236 भानुप्रताप सिंह ।

Sharing is caring!

Leave a Reply

Top